सलमान खान की फ़िल्म रेस 3 की पूरी कहानी एक परिवार के चारो तरफ घुमती है। इस परिवार के सदस्य शमशेर सिंह, सिकंदर , सूरज , संजना और यश है। अनिल कपूर शमशेर सिंह की भूमिका में इस परिवार के मुखिया है ओर सिकंदर का किरदार सलमान खान ने निभाया है। यह पूरा परिवार एक साथ अल्शिफ़ा नाम के आयरलैंड पर रहता है। शमशेर सिंह यानी अनिल कपूर हथियार बनाने का काम करता है। हथियार के धधे को लेकर परिवार के सभी सदस्यों में लालच पैदा हो जाता है और सभी एक दूसरे से जलने लग जाते है और यही से शुरू होती है रेस 3 की मैन स्टोरी। फिर धीरे धीरे राज खुलने लगते है।

अब बात करते है फ़िल्म रेस 3 की खूबियों की-

फ़िल्म की सबसे अच्छी बात यह है कि इस फ़िल्म में बहुत सस्पेंस है। क्लाइमेक्स भी अच्छा है और फ़िल्म की रफ्तार भी ठीक है। फ़िल्म की लोकशन पर काफी काम किया गया है और फ़िल्म में दर्शाया गए दर्शय भी बढ़िया है।

अब बारी है मूवी की खामियों की-

इस फ़िल्म की सबसे बड़ी खामी है फ़िल्म की पटकथा , फ़िल्म की पटकथा काफी धीमी है। फ़िल्म में कॉमन सेंस वाली तो कोई बात ही नही है अगर आप फ़िल्म में कॉमन सेंस लगते हो तो ये फ़िल्म आपके लिए नही है। फ़िल्म के पहले भाग की स्टोरी काफी स्लो है। फ़िल्म का संगीत भी कुछ ज्यादा बढ़िया नही है।
आपकी फ़िल्म रेस 3 के बारे में क्या राय है हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये।